MP Public News24x7

Latest Online Breaking News

आयोग अध्यक्ष श्री बिसेन ने मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया

😊 Please Share This News 😊

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का 5 सितंबर को बालाघाट आगमन हो रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 सितंबर को पुलिस लाइन बालाघाट में आयोजित कार्यक्रम में नक्सली उन्मूलन अभियान में अपनी जान की परवाह न करने वाले जवानों को आउट आफ टर्न प्रमोशन प्रदान करेंगे और इतवारी मंडी में आयोजित गुरुजन सम्मान समारोह कार्यक्रम में सेवानिवृत्त शिक्षकों का शाल एवं श्रीफल से सम्मान करेंगे । मध्य प्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष एवं विधायक श्री गौरीशंकर बिसेन ने आज 3 सितंबर को मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम के लिए की जा रही तैयारियों का जायजा लिया।  इस दौरान उन्होंने बताया कि पूर्व में मुख्यमंत्री जी का आगमन का कार्यक्रम 3 सितंबर को होने वाला था लेकिन 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर उनके द्वारा आयोजित किए जाने वाले गुरुजन सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री श्री चौहान से शामिल होने का अनुरोध किया गया था, जिसे मुख्यमंत्री जी ने स्वीकार कर 5 सितंबर को बालाघाट आने की सहमति प्रदान की है।  मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 सितंबर को बालाघाट जिले में सरेखा रेलवे क्रॉसिंग ओवर ब्रिज के साथ ही करोड़ों रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि पूजन करेंगे।

 “मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ भोजन करेंगे डाक्टर”

आयोग अध्यक्ष श्री बिसेन ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री 05 सितंबर को बालाघाट प्रवास के दौरान उनके निवास पर भोजन करेंगे। मुख्यमंत्री जी के साथ भोजन  करने के लिए जिले के सभी शासकीय, अशासकीय और निजी  एलोपैथिक, आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथी चिकित्सकों को आमंत्रित किया गया है। सभी चिकित्सक एप्रान पहनकर अपने पारंपरिक परिधान में इस भोजन कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री जी के समक्ष बालाघाट जिले की आवश्यकताओं को देखते हुए शीघ्र ही मेडिकल कालेज खोलने का प्रस्ताव रखा जाएगा और मुख्यमंत्री जी से इसे मंजूरी देने का अनुरोध किया जाएगा।

 

 

“निजी नर्सिंग होम व अस्पताल संचालको को फायर सेफ्टी NOC के लिए तीन माह की मोहलत देने प्रयास होंगे”

 

आयोग अध्यक्ष श्री बिसेन ने बताया कि आज 3 सितंबर को जिले के अशासकीय अस्पतालों के चिकित्सकों द्वारा उनसे मुलाकात कर फायर सेफ्टी NOC नहीं होने के कारण उनके अस्पतालों को बंद करने संबंधी दिए गए नोटिस पर चर्चा की गई।  निजी नर्सिंग होम संचालकों द्वारा बताया गया कि बालाघाट जिले में फायर सेफ्टी एनओसी देने के लिए तकनीकी अमला और सुविधा उपलब्ध नहीं है ।  जबलपुर, नागपुर या भोपाल जैसे शहरों में इंजीनियर एवं उनकी टीम उपलब्ध होती है,   लेकिन वह भी बालाघाट जैसे शहरों में अपनी सेवाएं उपलब्ध नहीं करा पाते हैं। शासन द्वारा उन्हें फायर सेफ्टी NOC के लिए  3 माह का समय दिया जाएगा तो  वह इस अवधि में फायर सेफ्टी एनओसी प्राप्त करने की प्रक्रिया पूरी कर फायर सेफ्टी एनओसी प्राप्त कर लेंगें आयोग अध्यक्ष श्री बिसेन ने निजी नर्सिंग होम संचालकों से कहा कि उन्हें  3 माह का समय फायर सेफ्टी एनओसी के लिए प्रदान किया जाएगा वे स्वयं इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव से बात करेंगे और इस संबंध में व्यवहारिक निर्णय लिया जाएगा । उन्होंने कहा कि बालाघाट जिला प्रशासन के अधिकारियों से भी कहा गया है कि निजी नर्सिंग होम संचालकों को फायर सेफ्टी एनओसी के लिए 3 माह की मोहलत देने के लिए तत्काल कदम उठाए।

रिपोर्टर, टोपराम पटलेे बालाघाट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

October 2022
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  
error: Content is protected !!