MP Public News24x7

Latest Online Breaking News

जिला सतर्कता एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की बैठक में सांसद डॉ बिसेन ने की योजनाओं की समीक्षा।

😊 Please Share This News 😊

बालाघाट-सिवनी लोक सभा क्षेत्र के सांसद डॉ ढालसिंह बिसेन की अध्यक्षता में आज 23 फरवरी को कलेक्ट्रेट कार्यालय सभाकक्ष में जिला सतर्कता एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिला पंचायत की प्रधान श्रीमती रेखा बिसेन, विधायक श्री टामलाल सहारे, कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक कुमार, जनपद पंचायत वारासिवनी के अध्यक्ष श्री चिंतामन नगपुरे, बालाघाट के अध्यक्ष श्री पूरनलाल ठाकरे, लालबर्रा की अध्यक्ष श्रीमती किरण मड़ावी, लांजी के अध्यक्ष डॉ अमृत लाल मेश्राम, विधायक प्रतिनिधि श्री युसूफ पटेल, श्री अरूण रहांगडाले श्री जितेन्द्र चौधरी एवं सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में सांसद डॉ बिसेन ने कहा कि जिले की जिन बड़ी ग्राम पंचायतों में अधिक राशि उपलब्ध है और उसका ग्राम पंचायत द्वारा उपयोग नहीं किया जा रहा है, ऐसी पंचायतों में जनसुविधा के लिएविकास कार्यों को कराया जाये। उन्होंने ग्राम पंचायत आंवलाझरी, थानेगांव मोहगांव (नांदी), तिरोड़ी, रामपायली, मोहझरी के पास उपलब्ध राशि का उपयोग कर इन ग्रामों को आदर्श ग्राम की तरह विकसित करने के निर्देश दिये। उन्होंने मनरेगा के कार्य किसानों की जरूरत को देखते 15 जून से 15 अगस्त की अवधि में कम से कम कराने कहा। बैठक में बताया गया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में बहुत से लोगों के नाम कट जाने की शिकायत मिली है। सांसद डॉ बिसेन ने इसे ठीक करने एवं पात्र लोगों को आवास योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिये।
सांसद डॉ बिसेन ने बैठक में कहा कि जिले की कोई नल-जल योजना बिजली कट जाने के कारण बंद नहीं होना चाहिए। ग्रामों में बन रही नल-जल योजना में जितने नल कनेक्शन दिये गये हैं उनका सत्यापन कराया जाये। नल-जल योजना का कार्य अच्छी गुणवत्ता के साथ होना चाहिए। जिला पंचायत की प्रधान श्रीमती रेखा बिसेन ने नल-जल योजना के अंतर्गत ग्राम के मंदिर में भी नल कनेक्शन दिये जाने की आवश्यकता बताया। सांसद डॉ बिसेन ने कहा कि प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र एवं स्कूल में बिजली का कनेक्शन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने आवश्यकता वाले स्कूलों में बाउंड्रीवाल बनाने का काम प्राथमिकता से लेने कहा। फसल बीमा की चर्चा करते हुए सांसद डॉ बिसेन ने कहा कि बैकों द्वारा किसानों से फसल बीमा की राशि काट ली जाती है, लेकिन उन्हें इसकी सूचना नहीं दी जाती है। बैंक ऐसी व्यवस्था बनाये कि फसल का बीमा कराने वाले किसान को बीमा की राशि की रसीद दी जाये और उसमें बीमा कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों से सम्पर्क के लिए नंबर भी दिये होना चाहिए। जिससे फसल खराब होने या नुकसान की स्थिति में किसान बीमा कंपनी से सीधे सम्पर्क कर सकेगा।
प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना एवं मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकरण की सड़कों की समीक्षा के दौरान सांसद डॉ बिसेन ने अधिकारियों से कहा कि जिले के दूरस्थ एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जहां नई सड़क बनाने, पुरानी सड़कों व पुल-पुलियों के सुधार की जरूरत हो उसके प्रस्ताव तैयार किये जायें। उन्होंने कटंगी में सिनेमा चौक के पास सड़क निर्माण के लिए हटाये गये अतिक्रमण के स्थान पर लोगों को भूमि का पट्टा दिये जाने पर नाराजगी जाहिर की और कहा कि इससे सड़क को चौड़ा करने का मकसद छूट रहा है। उन्होंने बोनकट्टा-कटंगी-सिवनी सड़क के सुधार करने की आवश्यकता बताई।
सांसद डॉ बिसेन ने आजीविका मिशन के कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि जिले में महिला समूहों द्वारा तैयार किये जा रहे उत्पादों के लिए बाजार उपलब्ध कराने पर अधिक ध्यान दिया जाये। उन्होंने जिले के दूरस्थ एवं आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में मोबाईल नेटवर्क, बिजली एवं रोजगार की समस्या पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता बतायी। उन्होंने विशेषकर कान्हा पार्क के बफर क्षेत्र के ग्रामीणों को उनकी रूचि के अनुसार रोजगारमूलक गतिविधियों से जोड़ने की आवश्यकता बताई और कहा कि इन क्षेत्रों में शिविर लगाकर उनकी समस्याओं का निदान किया जाये। सांसद डॉ बिसेन ने तिरोड़ी में ब्लास्टिंग के कारण घरों में दरार आने की समस्या पर अधिकारियों से कहा कि वे एक तकनीकी टीम बनाकर इस मामले की जांच करायें। उन्होंने जिला खनिज निधि के कार्यों को समिति की बैठक में ही स्वीकृत किया जाये।
बैठक में बताया गया कि मनरेगा के अंतर्गत जिले में 29 करोड़ रुपये का मजदूरी भुगतान एवं 19 करोड़ रुपये का सामग्री का भुगतान लंबित है। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गतवर्ष 2020-21 में 28 हजार 56 आवास स्वीकृत किये गये है। वर्ष 2021-22 में 64 हजार 677 आवास स्वीकृत किये गये है। आजीविका मिशन के 197 महिला समूहों ने ग्राम में जलकर, स्वच्छता कर, प्रकाश कर एवं संपत्ति कर की वसूली के लिए सहमति दी है। इसमें से 85 समूहों द्वारा गांवों में कर वसूली प्रारंभ कर दी गई है और अब तक 29 लाख 41 हजार 707 रुपये की कर वसूली कर ली है। सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत स्कूल भवन, बाउंड्रीवाल, अतिरिक्त कक्ष, शौचालय के 432 कार्यों मे से 209 कार्य पूर्ण कर लिये गये है।
बैठक में बताया गया कि जिले के आंगनवाड़ी केन्द्रों में पोषण पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। जिले के अस्पतालों के पोषण पुनर्वास केन्द्रों में कुल 142 बेड उपलब्ध हैं और वर्तमान में सभी भरे हुए है। जिले में अति कम वजन के 1032 एवं कम वजन के 15 हजार 585 बच्चों को चिन्हित किया गया है और उनका उपचार किया जा रहा है। फसल बीमा के अंतर्गत खरीफ 2020 में जिले के 62 हजार किसानों का फसल बीमा कराया गया था। इनमें से 21 हजार किसानों को फसल बीमा की 21 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है। कोविड-19 से मृतकों को राहत राशि के 560 प्रकरणों में 50-50 हजार रुपये की राशि प्रदान की जा चुकी है। अभी 300 आवेदन और प्राप्त हुए है, इन आवेदनों का सत्यापन कराया जा रहा है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

October 2022
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  
error: Content is protected !!